चीनी खाने वाले जरूर जान लें इसके ये भयंकर नुकसान, कहीं देर न हो जाए

suger

चीनी को सफेद ज़हर कहा जाता है। जबकि गुड़ स्वास्थ्य के लिए अमृत है। क्योंकि गुड़ खाने के बाद वह शरीर में क्षार पैदा करता है जो हमारे पाचन को अच्छा बनाता है। दिन के अधिकतर समय बैठे रहने की जीवनशैली के अलावा मानसिक तनाव, अपर्याप्त नींद इन महामारियों के मुख्य कारण हैं और इसी वजह से नमक व चीनी की खपत भी बढ़ रही है। यह क्रिस्टलाइज़ सूक्रोज, फ्रुक्टोज और ग्लूकोज का एक संयोजन का एक रूप है, जिसे गन्ने के रस से निकाला जाता है। चीनी के अधिक सेवन से कई प्रकार की समस्याएं हो सकती है। आपने सुना ही होगा कि चीनी का सेवन करने से दांत खराब हो जाते हैं। जब भी कभी हमारा मीठा या चीनी खाने का मन होता है तब हम चाय, कॉफी या केक के फॉम में अपनी शुगर क्रेविंग्स को खत्म कर लेते हैं।

suger

शक्कर रक्तगत शर्करा को अतिशीघ्रता से बढाती हैं। इसे सात्म्य करने के लिए अग्नाशय की कोशिकाएँ इन्सुलिन छोड़ती हैं। इन्सुलिन का सतत बढ़ती हुई माँग की पूर्ति करने से ये कोशिकाएँ निढाल हो जाती है, इससे इन्सुलिन का निर्माण कम होकर मधुमेह होता है।

चीनी का सेवन करने से चीनी हमारे खून में घुलने लगती है और यह कुछ ऐसे प्रोटीन के साथ मिल जाती है जो हमारी जवान त्वचा को एजिंग की तरफ ले जाते हैं। चीनी प्रोटीन को खराब करके कोलेजन और इलास्टिन को भी खराब कर देती है। जिसके कारण स्किन में ड्राइनेस और त्वचा पर झुरियां दिखाई देने लगती है।

suger

शक्कर का सेवन और डिप्रेशन एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं। 2012 की एक स्टडी में बताया गया ज़्यादा फ्रुक्टोज वाली चीज़ें खानेवाले युवाओं में कैंसर की संभावना अधिक देखी गयी। यह इस बात की ओर भी इशारा करता है कि चीनी डिप्रेशन से जुड़ी समसयाएं जैसे चिंता और तनाव को और बिगाड़ सकता है और दिमाग के काम करने के तरीके को बदल सकता है।

Related posts

Leave a Comment