कान में कीड़े-मकोड़े घुसने पर घबराएं नहीं, डाले यह एक चीज तुरंत निकल जाएगा बाहर

kaan

कान हमारे शरीर का एक ऐसा हिस्सा है जिससे हम सुन सकते है और हमारे दिमाग के नजदीक भी है। यदि हमारे कान में कोई परेशानी होती है तो हम बहुत परेशान हो जाते है। हमारे कान के छेद खुले रहते है जिससे उसमे धुल और मिटटी चली जाती है और धीरे -धीरे उसमे मैल जमा हो जाता है जिससे हम निकलते रहते है।

 kaan

मनुष्य के सभी अंग उसके जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। चाहे वो आंखे हो या आपके हाथ-पैर इनमे से किसी भी अंग के खराब या क्षतिग्रस्त हो जाने पर व्यक्ति का जीवन अस्त-व्यस्त हो जाता है। बच्चे यदि बड़े होते हैं तो वो काम में कुछ डले होने के बारे में बता सकते हैं लेकिन छोटे बच्चों के मामले लक्षणों के आधार पर ही इलाज हो पाता है।

 kaan

तुलसी की पत्तियों का रस गर्मकर के चार बूंद कान में डालने से कान का दर्द ठीक हो जाता है। यदि कान बहता है तो कुछ दिनों तक लगातार डालें।
अगर कान में चींटी चली जाने की वजह से कान में अजीब सी सुरसुराहठ हो तो फिटकरी को पानी में मिलाकर कान में डालने से लाभ मिलता है।
यदि आपके बच्चे के कान में कीड़ा चला गया है तो उसके कान के भीतर सूर्य की रोशनी जाने दे. ऐसा करने से कीड़ा रोशनी की ओर आकर्षित होकर बाहर आ जायेगा।

Related posts

Leave a Comment