आयुर्वेद

आयुर्वेद के अनुसार बड़ी इलायची है कई घातक रोगों का काल

Black cardamom

इलायची दो प्रकार की होती हैं, बडी इलायची और हरी इलायची इन दोनों के बडी इलायची सबसे ज्यादा लोकप्रिय है। अपने जबर्दस्त स्वाद और सुगंध के कारण इसका इस्तेमाल मसाला बनाने में किया जाता है। इसके अलावा आज हम बड़ी इलायची कुछ और फायदे बता रहे हैं।

  • अगर आप सांस संबंधी गंभीर समस्याओं से परेशान हैं, तो काली इलायची आपके लिए बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकती है। इससे अस्थमा, फेफड़ा संकुचन, कुकुर खांसी , फेफड़े की सूजन और तपेदिक जैसे सांसों से संबंधित बीमारियों से निजात मिल सकता है।
  • बड़ी इलायची का सेवन करने से शरीर में सभी प्रकार के दर्द से राहत पाया जा सकती हैं। जैसे सिर दर्द, थकावट होने पर बड़ी इलायची का सेवन करना लाभदायक साबित होता हैं।
  • बड़ी इलायची पाँच ग्राम लेकर आधा लीटर पानी में उबाल लें। जब पानी एक-चौथाई रह जाए, तो उतार लें। यह पानी पीने से उल्टियाँ बंद हो जाती हैं।
  • बड़ी इलायची एंटी ऑक्सीडेंट्स से भरपूर है। यह कोलोन, ब्रेस्ट और ओवेरियन कैंसर को रोकता है। इससे कैंसर सेल का निर्माण रुक जाता है।
  • बड़ी इलायची एक बेहतरीन डेटोक्स का काम करती हैं। यह शरीर से विषैले तत्वो को बाहर निकाल कर शरीर की रक्षा करती है।
  • अगर आपके मुंह से दुर्गंध आती है, तो बड़ी इलायची चबाना चाहिए है। इसके अलावा मुंह के घावों को ठीक करने के लिए भी बड़ी इलायची को इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • ऐसा पाया गया है, कि काली इलायची 14 तरह के जीवाणु से सामना कर सकती है। इसे खाने से इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत होता है और शरीर बैक्टीरिया और वाइरल इंफेक्शन से भी सुरक्षा करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!