आज हम आप को ऐसे पौधे और उसके फूल के बारे में बताने जा रहे है जो कि बहुत ही सुन्दर दिखता है और आसानी से सभी जगहों पर मिल भी जाता है जिसे सदाबहार कहते हैं। दुनियाभर में पाया जाने वाला सदाबहार पौधा लगभग साल भर फूलों से लदा मिल जायेगा। पांच पंखुड़ियों वाला पुष्प श्वेत, गुलाबी, फालसाई, जामुनी आदि रंगों में खिलता है। यह फूल न केवल सुन्दर और आकर्षक है, बल्कि औषधीय गुणों से भी भरपूर माना गया है। आपको एक खास बात बता दें कि फूल तोड़कर रख देने पर भी पूरा दिन ताजा रहता है। तो चलिए अब जानते हैं सदाबहार के फूल के कुछ विशेष फायदे।

सदाबहार के पौधे का पर्यावरणीय महत्त्व भी होता है क्योकि सदाबहार की पत्तियां विघटन के दौरान मिट्टी में उपस्थित हानिकारक रोगाणुओं को समाप्त कर देती है।

ये पत्तियां कैंसररोधी हैं। ये रोग बढ़ाने वाली कोशिकाओं के विकास को रोकती हैं साथ ही इस दौरान क्षतिग्रस्त हो गई कोशिकाओं को फिर से सेहतमंद बनाने का काम करती हैं।

प्राकृतिक व आयुर्वेदिक चिकित्सक मधुमेह रोगियों को इसके फूल का प्रयोग सुबह खाली पेट करने की सलाह देते है।

इसकी पत्तियों को तोड़े जाने पर जो दूध निकलता है, उसे घाव पर लगाने से किसी तरह का संक्रमण नहीं होता इसके अलावा घाव जल्दी सूख भी जाता है।

पत्तियों और फूलों को पानी की थोड़ी सी मात्रा में कुचलकर लेप को मुहांसों पर दिन में कम से कम 2 बार लगाने से जल्दी आराम मिलता है।

error: Content is protected !!