• कमजोरी दूर करने के लिए कुछ बादाम की गिरी को लेकर रात को सोने से पहले पानी में डालकर भिगो दें। इसे भीगे हुए बादाम की गिरी को सवेरे छीलकर मक्खन के साथ चबाकर खाना चाहिए। ऐसा करने से आप की कमजोरी दूर हो जाएगी।
  • चेचक होने पर 6 बादाम को पानी में पीसकर सुबह के समय पीने से चेचक के दाने आसानी से ठीक हो जाते हैं।
  • सूखी खांसी आने पर बादाम को मुंह में डालकर हल्का कूच कर चूसना चाहिए। इससे सूखी खाँसी ठीक हो जाएगी और गला गीला रहेगा।
  • कब्ज और गैस से लगभग सभी लोग परेशान रहते हैं। इससे निजात पाने के लिए १६ ग्राम बादाम के तेल को निकालकर एक गिलास दूध में डालकर कुछ दिनों तक लगातार सेवन करें।
  • पेशाब में जलन से होने के कारण बहुत ही परेशानी होती है। इससे राहत पाने के लिए 6 बादाम की गिरी को पानी में भिगो दें। इसके बाद आप 8 छोटी इलाइची को और मिश्री को पीस लें। अब भीगे हुए बादाम, इलायची और मिश्री को एक गिलास पानी में डालकर मिला लें। इस घोल का सेवन दिन में दो बार करें।
error: Content is protected !!