सोयाबीन में प्रोटीन बहुत ही अधिक मात्रा में पायी जाती है। इसमें विटामिन पायी जाती है इसके अलावा इसमें कार्बोहाइड्रेट और वसा पायी जाती है। मिनरल्स की अगर बात करें तो इसमें calcium ,iron और फास्फोरस जैसे जरुरी मिनरल भी होते है जो हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं।

महिलाओं में प्रोटीन की पामी सबसे ज्यादा होती है, इसीलिए सोयाबीन में पाये जाने वाले हाई प्रोटीन का सेवन महिलाओं में प्रोटीन की कमी को पूरा करता है।

सोयाबीन कैंसर को रोकने में सहायक होता है। सोयबान के सेवन से कैंसर होने की संभावनाएं कम हो जाती हैं।

सोयाबीन में फाइबर होता है जो हमारे  पाचन तंत्र का ख्याल रखती है, और पाचन शक्ति बढ़ाती है।

ध्यान दें सोयाबीन का सेवन इसके बीजों के रूप में किया जा सकता है, लेकिन सोयाबीन के बीज को कम मात्रा में लेना चाहिए।

सोयबीन ऐसा शाकाहारी भोजन है, जिसमें एमिनो एसिड पाया जाता है। एमिनो एसिड मांसाहारी भोजन में पाया जाता है। सोयबीन ऐसा शाकाहारी भोजन है जिसमें एमिनो एसिड पाया जाता है। एमिनो एसिड मांसाहारी भोजन में पाया जाता है। इसका सेवन आप बॉडीबिल्डिंग में कर सकते हैं।

गर्भवती महिलों के लिए सोयाबीन में पाये जाने वाला विटामिन B बहुत ही फायदेमंद होता है। इसके अलावा सोयाबीन हड्डियों के लिए अच्छा होता है, क्योंकि इसमें कैल्शियम प्रचुर मात्रा में पायी जाती है।

सोयाबीन के बीज के बीजों का रोजाना सेवन करने से वजन बढ़ता है।

सोयाबीन में पाये जाने वाला omega-3 fatty acids मधुमेह के रोगियों के लाभदायक होता है, और यही omega-3 fatty acids दिल का दौरा पड़ने से बचाता है।

error: Content is protected !!