गला खराब होने की स्थिति में प्याज के छिलकों को गर्म पानी में डालकर या उबालकर प्रयोग लाभकारी होगी। गले की समस्याओं में प्याज की यह अनोखी चाय बेहद फायदेमंद हो सकता है।

प्याज के छिलकों में एंटी-ऑक्‍सीडेंट की मात्रा काफी ज्‍यादा होती है, जो शरीर को एलर्जी और सूजन से बचाता है। आप भोजन बनाते समय इन्‍हें धुलकर पकते हुए भोजन में डाल दें, बाद में निकाल लें। इससे आपका भोजन अधिक स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक होगा।

प्याज़ के वो छिलके लें, जिनमें रस हो। फिर इन्हें हल्दी में मिलाकर अपने चेहरे पर लगाएं। ऐसा करने से चेहरे के दाग-धब्बे दूर हो सकते हैं और त्वचा खिल उठेगी।

प्याज़ के छिलके में क्वैरसेटीन नाम के फ्लेवोनोल की प्रचुर मात्रा में होती है, जो ब्लड प्रेशर नियंत्रित करता है और आर्टरीज़ को साफ करके, हार्ट अटैक आने की संभावना को घटा देता है।द जर्नल प्लांट फूड्स फॉर ह्यूमन न्यूट्रिशन में एक स्टडी के मुताबिक प्याज़ के छिलकों में फाइबर बहुत अधिक होता है और कई कम्पाउंड्स जैसे-फीनोलिक, फ्लेवोनोइड्स और क्वैरसेटीन जो कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ को इम्प्रूव करते हैं। प्याज़ के छिलकेसूजन और कैंसर के रिस्क को कम करते हैं।

error: Content is protected !!