paan

पान तो आप सभी ने कभी ना कभी जरूर खाया होगा। आपको आज हम पान के बारे में बताएंगे। पान एक माउथ फ्रेशनर के साथ साथ आपके शरीर के लिए बहुत उपयोगी होता है। हर उम्र के लोग इसका सेवन कर सकते है। क्‍या आप पान के पत्‍ते के फायदे और नुकसान जानते हैं। क्योंकि भारत और भारत के सीमावर्ती देशों में पान का बहुत अधिक महत्‍व है। पान न केवल लोगों के शान को बढ़ता है बिल्कि यह बहुत सी स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को भी दूर करने में मदद करता है। पान की तासीर ठंडी होती है, हमारे देश में प्राचीन समय से ही परंपरा है कि बुजुर्ग लोग भोजन के बाद या दिन में कई बार पान के पत्‍ते चबाते हैं। इसका आयुर्वेदिक महत्‍व भी है। क्‍योंकि पान के पत्‍तों में ऐसे बहुत से पोषक तत्‍व होते हैं जो हमारे लिए फायदेमंद होते हैं।

पान के 15 पत्तो को 3 ग्लास पानी में डाल ले। इसके बाद, इसे तब तक उबाले, जब तक पानी उबल कर 1/3 ना रह जाए। इसे दिन में 3 बार पिए।
पान खाना पाचन क्रिया के लिए फायदेमंद है। ये सैलिवरी ग्लैंड को सक्रिय करके लार बनाने का काम करता है जोकि खाने को छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ने का काम करता है। कब्ज की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए भी पान की पत्ती चबाना काफी फायदेमंद है। गैस्ट्र‍िक अल्सर को ठीक करने में भी पान खाना काफी फायदेमंद है।
पान की पत्तियों को चबाने के लिए बहुत प्रयास की जरूरत होती है और जिससे आपकी लार ग्रंथि अधिक काम करती है। यह लार को रिलीज़ करता है जो पाचन का पहला चरण है, क्योंकि इसमें एंजाइम विभिन्न खाद्य पदार्थों को तोड़ते हैं जिससे यह पचाना आसान हो जाता है। पाचन सुधारने के लिए अदरक, अंजीर, सौंफ़ आदि जैसे प्राकृतिक पदार्थ भी अच्छे होते हैं।

error: Content is protected !!