Reheat

नाश्ते और दोपहर के खाने के अलावा रात के खाने पर भी ध्यान देना बेहद जरूरी है। रात के खाने पर ध्यान देना इसलिए आवश्यक है क्योंकि इससे न सिर्फ आपकी नींद पर असर पड़ता है बल्कि आपकी सेहत भी इससे जुड़ी होती है। अगर आप सही आहार खाते हैं तो आपको नींद बेहद अच्छी आएगी और आप हमेशा स्वस्थ रहेंगे। रात के खाने में अस्वस्थ खाद्य पदार्थ शामिल करने से वजन बढ़ता है और एक अच्छी नींद लेने में भी परेशानी होती है। इस लेख में हमने आपको रात के खाने में क्या खाएं और क्या न खाएं के बारें में बताया है, जिन्हें जानना आपके लिए बेहद जरूरी है। इसके साथ ही कुछ बातों का हमेशा ध्यान रखें जैसे कि रोजाना रात का भोजन 7 बजे तक कर लें, रात के खाने और सोने के बीच तीन घंटे का अंतराल रखें, दस बजे के बाद खाना न खाएं।

ऐसा आहार खाएं जो प्रोटीन से भरपूर हो। अपने खाने में लो फैट प्रोटीन (ग्रील्ड), दालें, हरी पत्तेदार सब्जियां, करी पत्ते जैसी चीजें शामिल करें। रात के सामय प्रोटीन से भरपूर आहार लेने से पाचनतंत्र सही तरह से काम करता है।

रात के खाने में ऐसा आहार होना चाहिए जो लो कार्ब हो। इसकी वजह यह है कि कार्बस को डाइजेस करना मुश्किल होता है। लो कार्ब आहार जल्दी पच जाता है और आप अच्छी नींद ले सकते हैं। तो अपने आहार में पनीर, टोफू, लेंटिल्स, फलियां, लो फैट चिकन खाएं।

शाम को 7 बजे के बाद नमक कम खाएं। हम जानते हैं कुछ लोगों के लिए यह मुश्किल हो सकता है, लेकिन यह बहुत जरूरी है। खास तौर पर उस समय जब आपने कोई पार्टी प्लान की हो या आप पार्टी बर्ड हों। नमक लेने से शरीर में वाटर रिटेंशन बढ़ जाती है, जो वजन बढ़ाने का काम करती है।

रात को दही खाने से बचें। जी हां, अगर आपको दही खाना बेहद पसंद हैं और आप वजन भी कम करना चाहते हैं तो आपको रात के समय दही नहीं खाना चाहिए। आयुर्वेद के अनुसार दही कोप दोष को बढ़ाती है। क्योंकि दही में खट्टा और मीठा दोनों ही होते हैं। यह एक असंतुलन पैदा करती है जो नाक बंद करने जैसी परेशानी को बढ़ा सकती है और रात के समय नींद को प्रभावित कर सकती है।

error: Content is protected !!