apple

अंग्रेजी में कहा गया है, “एन एपल ए डे”, कीप्स द डॉक्टर अवे” अर्थात् एक सेब रोज खाओ और डॉक्टर को दूर भगाओ। सेब पौष्टिक तत्वों से भरा है। ये न केवल रोगों से लड़ने में मदद करता है बल्कि आपके शरीर को भी स्वस्त रखता है। वैज्ञानिक अध्ययनों से पता चला है कि सेब के सेवन से ह्वदय रोग, कैंसर, मधुमेह के साथ ही दिमागी बीमारियों जैसे पार्किंसन और अल्जाइमर आदि में भी आराम मिलता है। सेब रेशे वाला फल है इसीलिए इसमें में फाइबर भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। सेब को खाने से पाचन तंत्र भी सही रहता है।

सेब में भरी मात्रा में फ्रुक्टोस पाया जाता है। यह एक प्रकार का शुगरी पदार्थ है। यह शरीर में जाकर एक सीरप बना लेता है। दिलचस्प बात यह है कि ग्लूकोस शरीर में जाकर रक्त में मिल जाता है लेकिन फ्रुक्टोस नही मिल पाता है और सिर्फ लीवर में ही रह जाता है। फ्रुक्टोसे के एकत्रित होने के कारण शरीर में ट्राईग्लिसराइड्स नामक एक फैट का उत्पादन करता है जो हार्ट की समस्याओं के लिए ज़िम्मेदार होते हैं। अत्यधिक सेब का सेवन करने से शरीर में इनकी मात्रा बढ़ जाती है और इसलिए हार्ट से सम्बंधित बिमारियों का खतरा भी काफी हद्द तक बढ़ जाता है।

फलों और सब्‍जीयों में कैंसर विरोधी गुण होते है, जिसमें सेब भी शामिल है। सेब का एक फायदा यह है कि वे एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होते है जो कैंसर को रोकने में मदद करते है। सेब में एसिटोजिनिन और एलिकॉइड जैसे योगिक होते हैं जो कैंसर और गुर्दे से संबंधित खतरों को कम करते है।

अगर आप सेब का अधिक सेवन करते है तो यह आपके दांतों के लिए बेहद ही हानिकारक हो सकता है। सेब में अम्‍ल का प्रमाण अधिक होता है, जो दांतों के नुकसानदेह होता है। इसलिए अधिक मात्रा में सेब का का सेवन ना करे और सेब खाने के बाद पानी से अच्छी तरह दांतों को साफ़ करे।

error: Content is protected !!