लड़के सिर्फ इन 4 गंदी आदतों को छोड़ दे, शरीर बन जाएगा ताकतवर और फौलाद

sharir

आज आपको बताते हैं कमजोर शरीर के कारण और इसके लक्षणों के बारे में। मोटापे से बहुत से लोग परेशान रहते हैं और इसे दूर करने के लिए ढ़ेरों उपाय भी किया करते हैं लेकिन सिर्फ ज़्यादा वजन ही मुश्किल का कारण नहीं होता है बल्कि वजन का कम होना भी एक बड़ी मुश्किल होता है जिसके कारण शरीर कमजोर बना रहता है। ऐसे में ये जानना बेहतर होगा कि आख़िर कमज़ोर शरीर रहने के कारण क्या हैं ताकि इन्हें दूर करके शरीर को सुडौल और स्वस्थ बनाया जा सकता है। दोस्तों चलने फिरने के लिए या फिर कोई काम करने के लिए शरीर में ताकत का होना बहुत जरूरी है।यदि शरीर में कमजोरी महसूस होती है तो थकावट बहुत जल्दी आती है और थकावट आने की वजह से नींद आने लग जाती है। जिस कारण किसी भी काम में मन नहीं लग पाता है जिससे आपके शरीर में कमजोरी धीरे-धीरे खत्म हो जाएगी और कोई भी काम करने में मन लगने लग जाएगा। तो अब चलिए इसके कुछ महत्वपूर्ण कारणों पर बात करते हैं।

कई बार स्वस्थ व्यक्ति इतनी तनावपूर्ण स्थितियों में रहते हैं कि उन्हें भूख बहुत कम लगने लगती है और खाया हुआ अन्न उनके शरीर को उचित पोषण नहीं दे पाता जिसके चलते धीरे-धीरे वजन कम होता जाता है और शरीर कमजोर होने लगता है।

इन दोनों स्थितियों को थकान व कमजोरी की मुख्य वजह माना जाता है लेकिन दुर्भाग्यवश इसके ज्यादातर मामलों का निदान नहीं हो पाता है। जिसकी वजह यह है कि इसके मामलें आसानी से पहचान भी नहीं आते। बहुत अधिक चिंता करना या अवसाद में रहना पीड़ित के जीवन स्तर और कार्यशैली पर बहुत बुरा प्रभाव ड़ालते हैं।

अत्यधि‍क शराब या धूम्रपान का सेवन भी आपकी हड्ड‍ियों को बुरी तरह से प्रभावित कर सकता है। इनसे आपकी हड्ड‍ियां बहुत जल्दी कमजोर होती हैं और ऑस्ट‍ियोपोरोसिस जैसी समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है।

देर तक सोने वाले व्यक्ति टेंशन और डिप्रेशन का शिकार आसानी से हो जाते हैं। 9 घंटे से अधिक सोने से दिमाग की क्षमता घटती है। दिमाग सुस्त हो जाता है, जिससे शरीर की स्फूर्ति खो जाती है। मानसिक स्वास्थ्य अच्छा रहे तो आप अनावश्यक न सोएं और आलस छोड़ें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!