अनानास एक ऐसा फल हैं जो प्रोटीन, फॉस्फोरस, कैल्शियम से भरपूर हैं और उसमे विटामिन A और सी पाया जाता हैं। इसको जूस और सलाद के रूप में खाया जा सकता हैं. इसका स्वाद खट्टा-मीठा होता हैं। गर्मी के मौसम में जूस पीने के अपने फायदे हैं। अगर आप भी जूस पीना पसंद करते हैं, तो इस बार पाइनेपल यानि अनानास का जूस लीजिए। भारत में जुलाई से नवंबर के मध्य अनन्नास काफी मात्रा में मिलता है। अनन्नास मूलत: ब्राजील का फल है, जो प्रसिद्ध नाविक कोलम्बस अपने साथ यूरोप लेकर आया था।

भारत में इस फल को पुर्तगाली लोग लेकर आये थे। अनानस सुनहरे रंग का दिखने वाला एक बहुत ही स्वादिष्ट सा फल है। परंतु क्या आप इस बात से परिचित है कि सुनहरे रंग का यह फल आपके सेहत के लिए भी सुनहरा है। जी हाँ, अनानास में ना केवल खट्टे-मीठे स्वाद का खजाना समाया हुआ अपितु साथ ही में यह स्वास्थ्य लाभ के लिए गुणों का भी भण्डार है।

ananas

इसमें ब्रोमेलैन एंजाइम होता हैं जो पाचन क्रिया को सही बनाये रखता हैं। इसमें फाइबर भी ज्यादा मात्रा में होते हैं जो डाइजेशन सिस्टम को दुरुस्त रखते हैं। साथ ही अनानास का सेवन करने से पेट के कीड़े, टेपवर्म आदि भी मर जाते हैं।

अनानास के नियमित रूप से सेवन करने पर उच्च रक्तचाप के खतरे को बहुत हद तक कम किया जा सकता है। एक कप अनानस में 1एमजी सोडियम होता है और 195 एमजी पोटैशियम। उच्च मात्रा में निहित पोटैशियम रक्तचाप को कम करने में अत्यंत सहायक होता है।

जब आप अनानास खाते हैं तो वह शराब में बदल कर जठरांत्र में पहुचता हैं, यही आगे चलकर गठिया की शुरुवात करता हैं, इसलिए जिन्हे गठिया या जोड़ो का दर्द रहता हैं, उन्हे ज़्यादा अनानास नही खाना चाहिए।

error: Content is protected !!