Khujli

त्वचा पर खुजली दाद हो जाने, फोड़े-फुंसी हो जाना बरसात आदि के मौसम में आम बात है। दाद या एक्जिमा, खुजली त्वचा से जुड़ी बीमारियां है जो कई बार गंभीर समस्या भी बन जाती है। एक्जीमा या दाद पर होने वाली खुजली और जलन दाद से पीडि़त व्यक्ति का जीना मुहाल कर देती है। ये कई प्रकार क होते है और इसके होने के कई कारण हो सकते है जैसे गीले कपडे पहनने से , किसी दाद ग्रसित आदमी के संपर्क में आने से या पसीना जादा आने से। त्वचा पर खुजली हाथ, पैर, टाँगे, सिर, टाँगे, गुप्तांग, चेहरे या शरीर के किसी भी अंग पर हो सकती हैं। जब खाज शरीर के ई अंगो पर एक साथ हो जाए तो उसे ठीक करना मुश्किल हो जाता हैं। खुजाने पर कुछ समय के लिए तो आराम मिल जाता है। गंदगी, एलर्जी या फिर अन्य कारणों से होने वाली खुजली, आपकी त्वचा को काफी नुकसान पहुंचाती है। कई बार शरीर में छोटी-छोटी फुंसियां होना और उसे खुजाने पर खून निकलने जैसी समस्या भी सामने आती है, जो त्वचा के लिए और भी खतरनाक है ।आइए जानते हैं, खुजली के कुछ घरेलू समाधान-

नींबू
विटामिन सी से समृद्ध और ब्‍लीचिंग प्रकृति के कारण नींबू खुजली वाली त्‍वचा के लिए सबसे अच्‍छे उपायों में से एक है। नींबू में मौजूद वाष्पशील तेल में उत्तेजना को सुन्‍न करने की क्षमता होती है जिसके कारण यह जलन और सूजन को दूर करने में मदद करता है। इसके लिए नींबू को काटकर उसके रस को खुजली वाली जगह पर मलने से हर तरह की खुजली से छुटकारा मिलता है।

Khujli

मदार
स्किन में एलर्जी या रूखेपन के कारण खुजली की समस्या हो जाती है। इससे छुटकारा पाने के लिए मदार की जड़ को जला लें। इसकी राख को कड़वे तेल में मिलाकर खुजली वाली जगहें पर लगाएं। खुजली की परेशानी दूर हो जाएगी।

गुनगुना पानी
दाद वाली जगह को हलके गुनगुने पानी से दिन में 2–3 बार धोये ताकि जगह की सफाई रहे और कीटाणु भी मर जाये।

जीरा
तीन ग्राम जीरा और 15 ग्राम सिंदूर को पीसकर, सरसों के तेल में पकाएं। अब इस तैयार लेप को खुजली वाले स्थान पर लगाएं। इस लेप के प्रयोग से खुजली समाप्त हो जाती है।

error: Content is protected !!