इन 3 गलतियों की वजह से हो जाती है दाँतों की बीमारी, दूसरी गलती लोग सबसे ज़्यादा करते है

स्वस्थ मुंह में संवेदनशील (सेंसिटिव) दांत बहुत पीड़ादायक हो सकते हैं। कई बार दांत इतने संवेदनशील होते हैं कि गर्म चाय पीने और ठंडी आईस क्रीम खाने के ख्याल से ही आपको घबराहट होने लगती है। हम अपने दांतों को दिन में एक या दो बार ब्रश से साफ़ ज़रूर करते हैं।

असल में, एक परफेक्ट मुस्कान के लिए सुबह और शाम सिर्फ दांतों को ब्रश करना पर्याप्त नहीं है। इससे दिल, गुर्दे समेत अन्य बीमारियों की चपेट में आने का खतरा बना रहता है। इसलिए अगर दांतों की सफाई रखी जाए तो दिल लाजवाब बना रहेगा। साथ ही अन्य बीमारियां भी पास नहीं आएंगी। विशेषज्ञों की मानें तो अब इलाज की सुविधाएं बेहतर हुई हैैं, लेकिन लापरवाही इंसान को बीमार बना रही है।

  1. गैस्ट्रिक के मरीजों में हाइड्रोक्लोरिक एसिड बनता है जो मुंह केे पीएच लेवल (पॉवर ऑफ हाइड्रोजन) को नुकसान पहुंचाता है। लार में पीएच कम होने से इनेमल कमजोर होता है।
  2. अगर आपको मिन्टी फ्रेश सांसे पसंद हैं और आप पूरे दिन माउथवॉश का इस्तेमाल करते रहते हैं, तो इससे मुंह में छाले हो सकते हैं। माउथ क्लीनर्स में तेजाब होता है जो संवेदनशील दांतों को और खराब कर देता है।
  3. रेड वाइन, सोडा, खट्टे फल और अत्यधिक मीठे पेय पदार्थ छोड़ दें। लेकिन, फिर भी आप एक यो दो ड्रिंक पीना चाहते हैं तो स्ट्रॉ का इस्तेमाल करें ताकि इसमें मौजूद एसिड पूरे मुंह में न फैल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!