घरेलू उपचार

खुजली के इलाज के लिए किसी संजीवनी जड़ी बूटी से कम नहीं है यह औषधि खुजली को कर देगी खत्म

Daad

Daad

कई बार अचानक होने वाली खुजली को रोक पाना मुश्किल हो जाता है। अधिकांश लोग त्वचा को खुरच-खुरच कर खून तक निकाल देते हैं। त्वचा को खुरचने से भले ही थोड़ी देर के लिए सुकून मिल जाए, लेकिन इसके बाद होने वाली पीढ़ा असहनीय होती है। गर्मियों के दौरान यह आम है, क्योंकि पसीने का निकलना और देर तक त्वचा पर बने रहने से बैक्टीरिया पनपने लगते हैं, जिससे खुजली का एहसास होता है। गले, कमर, बगल और जाघों के बीच में खुजली ज्यादा होती है, क्योंकि यहां पसीने का जमाव ज्यादा होता है। गंदगी, एलर्जी या फिर अन्य कारणों से होने वाली खुजली, आपकी त्वचा को काफी नुकसान पहुंचाती है। कई बार शरीर में छोटी-छोटी फुंसियां होना और उसे खुजाने पर खून निकलने जैसी समस्या भी सामने आती है, जो त्वचा के लिए और भी खतरनाक है ।आइए जानते हैं, खुजली के कुछ घरेलू समाधान –

निम्बू एक बढ़िया उपाय है निम्बू के रस को पानी में निचोड़ ले और दाद को इस पानी से धोये हल्का जलन होगा। अगर आप को जलन कम महसूस हो तो आप सीधा निम्बू को ही दाद पर लगा सकते है।

अपने मॉइस्चराइजिंग गुणों के कारण एलोवेरा त्‍वचा के लिए वरदान होता है। खुजली वाले स्‍थान पर एलोवेरा के जैल को रगड़ने से यह त्वचा की जलन को कम करने में मदद करता है और खुजली से जल्दी ही राहत प्रदान करता है। इसके लिए घर में लगे एलोवेरा के पौधे की पत्‍ती को काट लें और उसमें से निकलने वाले जेल को खुजली वाली जगह पर लगा लें।

टमाटर के रस में हलकी हल्दी मिला कर लेप बना ले और इसे दाद वाली जगह पर लगाये जिससे फायदा होता है।

तुलसी के पत्ते थीमोल और कपूर से समृद्ध होने के कारण, इनमें त्वचा की जलन को कम करने की क्षमता होती है। खुजली होने पर तुलसी के कुछ पत्तों को लेकर उन्‍हें प्रभावित क्षेत्र पर रगड़ें। या तुलसी के पत्तों की चाय बनाकर उसे खुजली वाले स्‍थान पर लगाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!