kidney

किडनी शरीर का मुख्य अंग है जो शरीर से सारे हानिकारक और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने का काम करती है। किडनी रक्त को साफ कर सारे विषाक्त पदार्थों को मूत्र के रूप में शरीर से बाहर कर देती है। हर मनुष्य के शरीर में दो किडनी होती है। किडनी इंसान के शरीर के मुख्य अंगों में से एक होती है। यह शरीर से वेस्ट को बाहर निकालने के अलावा भी बहुत महत्वपूर्ण कार्य करती है। यदि यह खराब होने लगे व ठीक तरह से काम करना बंद कर दे, तो आपको कई तरह की परेशानियों व बीमारियों को सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में जरूरी है कि आप किडनी खराब होने के कोई भी संकेत दिखने पर उन्हें नजरअंदाज न करें और तुरंत डॉक्टर से परामर्श करें।

हाथों-पैरों पर सूजन किसी भी वजह से हो सकती हैं लेकिन यह किडनी खराब होने के कारण भी हो सकता हैं। दरअसल, किडनी खराब होने पर शरीर में कई हानिकारक पदार्थ जमा होने लगते है, जिससे हाथों-पैरों पर सूजन आने लगती है और यूरिन का रंग गाढ़ा हो जाता हैं।

हृदय के द्वारा पम्प किए गए रक्त का 20 प्रतिशत किडनी में जाता है, जहां यह रक्त साफ होकर वापस शरीर में चला जाता है। इस तरह से किडनी हमारे रक्त को साफ कर देती है और सारे टॉक्सिन्स पेशाब के जरिए शरीर से बाहर कर देती है।

मूत्र विसर्जन के वक्त अगर पेशाब में खून आए तो फौरन सावधान हो जाएं और तुरंत किसी यूरोलॉजिस्ट से संपर्क करें। पेशाब में खून आना सिर्फ किडनी खराब होने के लक्षण नहीं बल्कि किडनी या मूत्राशय में कैंसर होने का लक्षण भी है।

यदि बहुत छोटी सी चोट या मामूली स्ट्रेस से ही आपकी हड्डी चटक या टूट जाए, यदि हड्डियों में बहुत दर्द रहता हो तो भी यह किडनी की बीमारी का लक्षण हो सकता है। किडनी विटामिन डी तथा कैल्शियम की मेटाबॉलिज्म में महत्वपूर्ण रोल अदा करती हैं।

error: Content is protected !!