स्वाइन इन्फ्लुएंजा जिसे एच 1 एन 1 या स्वाइन फ्लू के नाम से जानते है. स्वाइन स्वाइन फ्लू सूअरों में पाए जाने वाले इन्फ्लुएंजा विषाणुओं के कारण होता है. स्वाइन फ्लू के ये कुछ सामान्य लक्षण है ज्वर, जुकाम, खाँसी, मूर्छा, ठंड लगना, सिर व बदन, दर्द, गले मे खराश, उल्टी. स्वाइन फ्लू को दवाओं से और नीचे दिए गए घरेलू उपायों से ठीक किया जा सकते हैं.

 

तुलसी की पत्तिओं में प्रतिरोधक छमता बढ़ाने का गुण होता है जिससे की यह स्वाइन फ्लू के विषाणुओं से लड़ने में असरदार है. कुछ तुलसी के पत्तों को लेकर उन्हें धुलकर प्रतिदिन सेवन करना चाहिए.

कपूर को स्वाइन फ्लू में अच्छा माना जाता है, कपूर की एक गोली को महीने में एक बार लें.

प्रतिदिन लहसुन की कलियों को चबाने से प्रतिरोघक छमता बढ़ती है, जिससे कि स्वाइन फ्लू के लड़ने के लिए शरीर को शक्ति मिलती है.

विटामिन C युक्त फलों को खाने से स्वाइन फ्लू में आराम मिलता है.

एक चम्मच एलोवेरा के जैल को पानी के साथ लेने से प्रतिरोधक छमता बढ़ती है. जिससे से स्वाइन फ्लू में होने वाले जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है.

रोजाना श्वांस सम्बंधित व्यायाम और प्राणायाम करने से स्वाइन फ्लू से होने वाले श्वांस विकार दूर होता है

 
Roganusar में आपका स्वागत है अगर आप इस पोस्ट से सम्बन्धित कोई जानकारी देना चाहते है तो आप हमे कमेंट बाक्स मे लिखकर भेज सकते हैं। अगर ये पोस्ट आपको अच्छा लगा तो आप अपने दोस्तो को शेयर जरूर करें।

error: Content is protected !!