दिलेर समाचार, नाक से खून रिसना सामान्य तया घर घर में पाई जाने वाली साधारण समस्या है जो वैसे तो घरेलु उपचार से ही काबू में आ जाती है। लेकिन कभी कभार अत्यधिक खून बह जाने पर संकट कालीन स्थिति उत्पन्न कर देती है। ये दुनिया अजीब है और यहां दुनिया में अजीब-अजीब लोग रहते हैं जिनकी हरकतें भी अजीब-अजीब होती हैं। उनमे से चीजे तो ऐसी होती है कि देखकर बेचैनी सी होने लगती है और वो कही भी और कभी शुरू हो जाते हैं। सार्वजनिक जगहों पर हर कोई नाक में हाथ डालने को लेकर शर्म महसूस करता है और दूसरों को भी देखने में ये बिल्कुल अच्छा नहीं लगता। कुछ लोगों को ये सब देखकर उल्टियां तक आ जाती हैं।

नाक को हर २-३ घंटे में अन्दर से गीला करके सूखे म्यूकस को बाहर सिनक देना चाहिए, उंगली से तो कभी भी साफ़ नहीं करना चाहिए।

यह हमारे शरीर से खतरनाक जर्मस के लिए प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है जिससे हमारे प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूती मिलती है।

error: Content is protected !!