आज अक्सर कई लोग अपने थोड़े से प्लेजर पाने के लिए और समय बिताने के लिए पोर्न देखना शुरू कर देते है और धीरे धीरे उन्हें पोर्न देखने का चस्का लग जाता है। पोर्न देखते समय जो प्लेजर मिलता है वह वाकई कमाल का होता है। पोर्न का संसार आज बहुत बड़ा हो चुका है, पोर्न इंडस्ट्री की बात करें तो यह अब यह अरबों डालर की इंडस्ट्री बन चुकी है। विश्व का हर युवा पोर्न फिल्में कभी ना कभी जरूर देखता है। शायद लोगों को इस बात की जानकारी नहीं कि बहुत ज्यादा पोर्न देखने से आपकी सैक्स लाइफ और सेहत दोनों प्रभावित हो सकती हैं।

porn

ऑक्सीटोसिन एक शक्तिशाली ‘लव हार्मोन’ है जो पुरुष और महिलाओं दोनों को बंधन में बांधने में मदद करता है लेकिन पोर्न फिल्‍मों में जिस तरह से एक्‍टर सैक्‍स करने में अपने किरदार को निभाते हैं। उस निकटतम बंधन से ‘लव हार्मोन’ कही खो जाता है।

porn

पॉर्न मॉडल्स का कमाल का फिगर और सुंदरता काफी हद तक मेकअप, कॉस्मेटिक सर्जरी और फोटोशॉप वगैरह पर निर्भर रहते हैं। लेकिन पॉर्न देखने वाले भी निजी जिंदगी में वोही पाना और करना चाहते हैं जो वे पोर्न में देखते हैं, जिस कारण उन्हें सैक्स में सैटिस्फेक्शन नहीं होती। वह अपने पार्टनर से खुश नहीं रहते। उनके दिल दिमाग में यह बात आती है कि उनका पार्टनर उतना सुंदर और आकर्षक नहीं है।

error: Content is protected !!