खजूर के पेड़ रेगिस्तानी इलाकों में पाए जाते हैं। यह बहुत लम्बे होते है। इनका एक ही तना होता है जिस पर बढ़ कर पत्तियां निकलती हैं। जैसे अंगूर का सूखा हुआ रूप किशमिश और मुनक्का होता है उसी तरह खजूर का सूखा हुआ रूप छुहारा होता है। खजूर को जब सूखा दिया जाये तो यह छुहारा बन जाता हैं। आइये छुहारा खाने के फायदे जानते हैं। छुहारे की तासीर गर्म होती हैं और शरीर को मजबूत बनाता हैं।

chuhara

दूध के साथ इसका सेवन करने पर यह शरीर को मजबूत बनाता है। अगर आपका शरीर कमजोर है तो आपको छुहारे का सेवन दूध में डालकर करना चाहिए। जिसके साथ साथ आपका वजन बढ़ने लगेगा और आपका शरीर भी मजबूत होने लगेगा।

chuhara

कम रक्तचाप वाले रोगी 3-4 खजूर गर्म पानी में धोकर गुठली निकाल दें। इन्हें गाय के गर्म दूध के साथ उबाल लें। उबले हुए दूध को सुबह-शाम पीएं। कुछ ही दिनों में कम रक्तचाप से छुटकारा मिल जाएगा।

शुगर के मरीज़ जिन्हें चीनी, मिठाई आदि मना हो, वे लोग सिमित मात्रा में खजूर का हलवा बना कर खा सकते हैं। खजूर में वे बेकार के गुण नहीं होते हैं, जो गन्ने से बनी चीनी में होते हैं।

error: Content is protected !!