मूंगफली असल में एक मेवा नहीं है एक फली है। एशिया में मूंगफली का सेवन इससे पहले से किया गया था। भारत में बहुत से योगी कुछ समय के लिए सौ फीसदी मूंगफली के आहार पर चले जाते हैं, क्योंकि वह अपने आप में अकेले ही एक संपूर्ण भोजन है। अब हम जानेंगे मूंगफली के कुछ फायदे।

मूंगफली का नियमित सेवन से फेफड़ों और आमाशय को मजबूती मिलती है। आमाशय पाचन शक्ति को बढ़ाती है। भूख कम लगने की स्थिति में मूंगफली फायदेमंद होती है। मूंगफली गीली खांसी में भी उपयोगी है।

मूँगफली में Monosaturated और polysaturated होती है। इससे दिल की कई प्रकार की बीमारियो से बचा जा सकता हैं। शुद्ध इन दोनो की बैलेंस मात्रा कोलेस्टरॉल लेवल को नियंत्रित करती हैं ।यह खराब हो चुके कोलेस्टरॉल को कम करके शरीर के लिए ज़रूरी शुद्ध कोलेस्टरॉल के उत्पादन को बढ़ाती हैं।

मूंगफली में मौजूद तत्व पेट से जुड़ी समस्या समाप्त हो जाती हैं इसके नियमित सेवन से कब्ज की समस्या दूर हो जाती है

यह महिलाओं के लिए मूंगफली बहुत ही लाभदायक होता है। पी-कौमरिक एसिड में पेट के कैंसर के जोखिम को कम करता है। मूंगफली में पॉलिफीनॉलिक नामक एंटीऑक्सीडेंट उच्च मात्रा में पाई जाती है। मूँगफली विशेष रूप से महिलाओं में पेट के कैंसर को नियंत्रित कर सकती है। मूंगफली के मक्खन के कम से कम 2 चम्मच दो बार एक सप्ताह में सेवन करने से महिलाओं और पुरुषों में पेट के कैंसर के खतरे को कम कर सकते हैं।

मूंगफली के रोजाना सेवन से गर्भवती स्त्री के बच्चे के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। यह गर्भावस्था में शिशु के विकास अच्छे से होता और बच्चा तंदुरुस्त होता है।

मूंगफली में ओमेगा-6 फैट भरपूर मात्रा में पाई जाती है, जो हमारी कोशिकाओं को स्वस्थ रखती है। इसलिए मूंगफली स्किन के लिए बेहद फायदेमंद होती है।

मूँगफली में विटामिन बी3 पाया जाता हैं। जो मस्तिष्क के लिए बहुत ही ज़रूरी होता हैं इसमे मौज़ूद नियासिन तत्व दिमाग़ के काम करने की पावर को बढ़ाता हैं। इसे मस्तिष्क के भोजन के तौर पर जाना जाता हैं। जिससे  डिप्रेशन, टेंशन, भूलने की बीमारी, आदि की समस्या दूर होती हैं

error: Content is protected !!