आप हल्दी को अक्सर अपने रसोई घरों में देखते होने लेकिन क्या आपको पता है, यह एक जड़ी बूटी है, जो हमारे शरीर के अत्यधिक फायदेमंद है। कच्ची हल्दी सूखी हुई हल्दी से ज्यादा कारगर है तो आइये इसके गुणों को जानें।

हल्दी पर किये गए कई रिसर्चों के अनुसार हल्दी के रोजाना सेवन से पित्त अधिक बनती जिसके कारण पाचन क्रिया तेज हो जाती है।

सर्दी, जुकाम और कफ हो जाने पर हल्दी वाले दूध का सेवन कर सकते हैं साथ में गरम दूध भी पी सकते है।

बायोफिजिकल और बायोकेमिस्‍ट्री रिसर्च के अनुसार प्रतिदिन हल्दी का सेवन करने से मधुमेह कुछ हद तक कम हो जाता है।

हल्दी एंटीसेप्टिक व एंटी बैक्टीरियल होता है इसके सेवन से खुजली, इंफेक्शन, मुंहासे आदि नहीं होता है और त्वचा की चमक बढ़ती है।

शरीर में किसी भी प्रकार का दर्द हो उसे आसानी से ठीक करने के लिए रात को सोने से पहले हल्दी वाला दूध पियें आराम मिलेगा।

हल्दी के एंटी बैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुणों के कारण शरीर के बाहरी या अंदरूनी हिस्से में चोट हल्दी वाला दूध पीने से जल्दी ठीक हो जाता है।

कैंसर जैसी घातक बीमारी में भी हल्दी कारगर है हल्‍दी एक ताकतवर एंटीऑक्‍सीडेंट है जो कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं को नष्ट कर देती है।

हल्दी ब्लड के लिए लाभदायक है हल्दी वाला पानी % पीने से खून साफ रहता है।

हल्दी में मौजूद शरीर में सूजन को कम करने में सहायक होता है इसके अलावा दर्द भी बन्द हो जाता है।

error: Content is protected !!