dudh

आयुर्वेद पर लोग कम भरोसा करते हैं क्योंकि इसके सेवन से तुरंत लाभ नहीं मिलता, लेकिन क्या आप जानते हैं कि आयुर्वेद आपकी बीमारी को जड़ से खत्म करता है वह भी बिना किसी साइड इफेक्टस के। आयुर्वेद का ही एक चमत्कार है अश्वगंधा जिसके गुणों से आप अनजान होंगे। अश्वगंधा को भारतीय जिनसेंग के नाम से भी जाना जाता है। अगर आप भी आकर्षक बॉडी बनाना चाहते हैं तो एक बार अश्वगंधा और शतावरी के चूर्ण का प्रयोग करके देखें। यह चूर्ण पूरी तरह सुरक्षित है और इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है। अश्वगंधा और शतावरी मिलकर ऐसे औषधीय गुण बनाते हैं जिनका असर शरीर पर सिर्फ एक हफ्ते के अंदर देखने को मिलेगा। इसका एक और फायदा ये भी है कि किसी भी उम्र के लोग इस चूर्ण का इस्तेमाल कर सकते हैं फिर चाहे वो बच्चे हों या बूढ़े।

एक चम्मच अश्वगंधा का पाउडर सुबह शाम दिन में दो बार एक ग्लास दूध के साथ ले। साथ ही साथ अपनी रोजाना की कैलोरी की मात्रा को बढ़ाये आर कसरत भी करे. इससे आपका वजन हर महीने 1 से 2 किलो तक बढेगा। अगर आप अश्वगंधा से वजन बढ़ाना चाहते है तो ये इस बात पर निर्भर करता है की आप इसे कैसे लेते है, आप कैसे जीते है, क्या आप भरपूर मात्रा में कैलोरी ले रहे है या नहीं।

जो लोग शरीर की कमजोरी की समस्या से परेशान हैं वो दूध में अश्वगंधा पाउडर मिलाकर रोजाना सेवन करें। ऐसे लोग 2 ग्राम अश्वगंधा पाउडर को एक गिलास दूध के साथ दिन में दो बार सेवन करें। 1 महीने तक लगातार इस उपाय को करने से आपको खुद फर्क महसूस हो जाएगा।

अश्गंधा के पाउडर का सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए। आयुर्वेद के अनुसार रोजाना एक या दो चम्मच (3-6 ग्राम) ही पर्याप्त है। आमतौर पर इसे पानी में उबालकर सेवन किया जाता है या फिर आप दूध में मिलाकर इसका काढ़ा बना ले और फिर पियें।

error: Content is protected !!